صور الصفحة
PDF
النشر الإلكتروني
[blocks in formation]

नेगडी कोटओयाल हुइल मुरत वदलाझ्या ।
घर घर जड़का आसिल लागाड्या ॥
हायान झापान हिलाल कुकुर ।
भिक सिक ना पाझ्या यावे हाड़ीर हजुर ॥
भिक्षा वलिया राजा गमन करिल ।
तुरु तुरु करि हाड़ी जकार छाडिल ॥
सर्ग हइते पांच कन्या जङ्कारे नामाइल ।
यांच थाल अन्य आनिया योगाइल |
आयना अंसर अन्न खाइल ।
राजार भागर अन्न यतने राखिल ।
अाड़ाइ पुटि ज्ञान अन्नत छाड़ि दिल ॥
थुक धागार अन्नक थुइल माखिया।
मोड़ा मिसरि रस दिया थुद्धल माखिया ॥
साइल केल्ला दुरा थुइल हाकिया ।
भिक्षा रुप धर्मि राजा वेड़ाय चेंचाइया ॥
हापरे झापरे राजाक हिलाय कुकुर ।
भिक सिक ना माझ्या गेल हाड़ीर हुजुर ।
गुरु धन तार देसर लोक देखिनु निदय निठुर ।
भिक सिक ना देय हिलाय कुकुर ॥
नाइ पाइस ना पाइस भिक्षा वेटा मेर सेवा नाइलया।
एकना सतीर नागाल पानु पन्थे वसिया ॥
तांय गुटिक अन्न दिया गेइल आसिया।

आपनकार अंसर अन्न खाइल वसिया।
तोर भागर अन्न थुचि यतने करिया ॥
फुलिते पड़िते राजा अन्नर काछत गेल ।
अन्न देखिया कयालत चड़ दिल ॥
एमन अन्न ना खाय ग्रामार कुत्ता सकल ।
सेह अन्नर नागाल पानु राज राजेखर ॥
तुरु तुरु करिया हाड़ि हुङ्कार छाडिल |
वार वत्सर खिदा सरीरत नागाइल |
छि छि खिन २ करिया एक ग्रास खाइल ।
अम्मत मिठा राजा मुखत लागिल ॥
फिर एकना गासर वेला हात कोना धरिल।

६०१

६७२

६७३

६७४

६०५

६७६

६७७

६७० ६७६

६८०

६१

'ur

६३

६४

कड़ा काड़ी करिया आडाइ गास खाइल |
आड़ाइ पुटी ज्ञान तखन सिखिल ॥
ज्ञाने ध्यानत वान्दि दिल ली।
गोदा यमर मायर सङ्गत कैल्ल कालाकाली॥
ज्ञाने ध्यानत वान्दि दिल चुड़ा ।
गोदा यमक करिया दिल खोंडा ॥
तुरु तुरु करिया हाड़ी हुङ्कार छाडिल ।
वाड़ीर कथा वाती राजार मनत पडिल ॥
विदाय देओ २ गुरु धरम तरि ।
बालक रथे देखि आसि घर छिरि वाड़ी॥
हातर ग्रास तुलिया दिल राजार हातर उपर।
हाड़ीर चरनत राजा परनाम जानाइल ॥
अासी मानी आसा लइल घाड़त करिया ।
रास्ता दिया चलिया याय राजा दुलालीया ॥
हाड़ी सिद्धा हासे खल खल करिया।
अक छाडीया राजा नियाय गमन ॥
आपनकार महलत गिया गेल चलिया।
तुरु तुरु करिया राजा सिंनाद वाजाय।
निन्दत आकिल कन्या चेतन हया याय॥
विन खड़ी दावा घड़ि वाजिवार लागिल ।
विन आगुन दुग्ध चाउल उथलीया पडिल ॥
हाटि २ प्रदीप जलिवार लागिल ।
सरदि सागरत राजा वहिवार लागिल ॥
चौद्दखान मधुकर भासिया उठिल ।
सी वृन्दावन राजा मुख लस हुइल |
गर्भवति नारी सव प्रसव हइल ॥

६५

६७

६८

६६

६६०

[merged small][merged small][ocr errors][merged small][merged small][merged small][merged small]

६६३

६६४

६५

६६६

६६

६६६

भिक्षा निले वान्दी साजान करिया ॥
भिक्षा नेग्रो अथीत गोंसार।
गिरिर घरर वान्दी फिरिया घरत याइ ॥
दक्षिन भागीया अथीत हामि नाम ब्रह्मचारि।
वान्दी छाडर हातत भिक्षा नइते ना पारि ॥
यदि भिक्षा देय तवे साइवानि सकल ।
तवे भिक्षा नइते पारि अथीतर कुमर ॥
थाक २ अथीत केंछड़ा वठिया ।
कत क्षन ना पाओ भिक्षा फेउ २ करिया ॥
कान्दिया गेल वान्दी कन्यार वरावर ।
दक्षिन भागीया अथीत हामरा नाम ब्रह्मचारि।
वान्दीर हातर भिक्षा हामरा लइते ना पारि॥
यदि भिक्षा देन तामार साइवानी सकल ।
येन मते कन्या दुइटा सम्बाद सुनिल ।
भिक्षा धरि कन्या दुइटा खाड़ा हझ्या रहिल ॥
विन छोड़ानि धर्मर कपाट आपने खसिल ।
भिक्षा धरि अदुना पदुना वाहिर हझ्या आइल ॥
भिक्षा नेत्री भिक्षा नेग्रो अथीत गोसाइ।
गिरिर घरर वउ वेटि फिरिया घरत याइ ॥
पुरव भागीया अथीत हामि नाम ब्रह्मचारि।
स्त्री लोकर भिक्षा हामि लइते ना पारि॥
यदि भिक्षा देय तामार माथार छतर।
तवे भिक्षा लहते पारि अथीतर कुमर ॥
ठांरेया ठांरेया स्त्री आङ्गुल देखाइल ।
स्त्रीर प्राङ्गल देखि तामार हस्तर उपर ।
तोमरा हन प्रामार माथार छतर ॥
तोरा अथीत हामि अथीत एक गुरुर सिस ॥
सन्धा कालत एक वाडीत उतरिनु याया।
ठाकरि कालाइर डाइल दिल वियरि धानर चाहल ॥
ताहाके खाइल हाङवासी हत्या।
भेद वमि हया से गेल मरिया ॥
कांहो पाइला डाङ्ग माइल्ल कांहो गोयाल डाङ्ग ।
भागत थाकिया पाटि जोड़ा मेोक कल्ये दान ।

७००

७०१

७०२

७०३

७०४

७०५

७०७

७०८

[ocr errors]

७०६

७१०

७११

७१२

७१३

७१५

कानटि गेल वान्दी आगया पान खायो। हस्तिर दारुका काटिया देशो ॥ मार मायामि निवे चिन करिया। विदेसी अथीत हुइले फेलावे मारिया ॥ हस्तिर दारुका दिले काटिया । दुर हुइते अाइसे हस्ति आइल चड़िया ॥ दुर हइते राजाक परनाम करिल । सुंड़ दिया धरिया राजाक कान्धत चड़ाइल ॥ एक घड़ि थाकिले हस्ति धैर्य धरिया । यावत ना आइले कन्या छलना करिया ॥ हस्तिर पिटि हइते राजा म्टत्तिकाय नामिल । हस्त धरि कन्या दुइटा राजाक मन्दीरत लझ्या गेल । हासिया खेलिया कन्या चिना युका दिल || केमन गुरु तोक ज्ञान दिल सरीरर भितर । केमन करि यायो तोर मायर वरावर ॥ सोनाली भोमरा हुइल काया वदलिया। मयनार महले गेल चलिया ॥ मयनार वाङ्गलाय याया हुङ्कार छाडिल । मयना मति चोरखा सुन्ने उड़ाइया दिल ॥ ऐत मयना अज वड़ नाटक । चटकिया धरिल चड़कार छतर ॥ आय २ वाछा मार दुखिनीर दुलालोया ॥ माथार केस राजार दुइ अर्ड करिया। जननीर चरने राजा पैल भजिया ॥ मथु नापितक आनिल डाकिया। राजा किरा सुद करिवार लागिल । वामने आसिया नैवद भाना दिल ॥ संकीर्तन राजा करिवार लागिल । सात गोला धान खयरात करिल ॥ गभीर नेङ्गल धरिया वैतरनि हइल पार। राजार पिता माता वैकुम्ठे हइल पार ॥ पञ्च लोटा जले मयना छिनान करिया । हासियाली घरत सान्दाइल लहर दिया ॥

७१६

७१७

७१६

७२०

७२१

७२२

७२३

७२४

७२४ । लहर cf. V. 136.!!

C C

[merged small][merged small][ocr errors][merged small][merged small]

एक भात पच्चास व्यञ्जन रन्धन करिया।
तिन खान लइल अम्बले माजिया ॥
हाडिर लागिया मयना जङ्कार छाडिल ।
तखनि हाड़ी आसिया खाड़ा हइल ॥
प्रथम थाल अन्न दिल हाड़ीर वरावर ।
फिर थाल अन्न निले मयना सुन्दर ।
फिर थाल अन्न दिले राजार वरावर ॥
हात मुखत जल दिया कोन काम करिल ।
सी कृष् वलिया अन्न मुखत तुलि दिल ।
एक गास दुइ गास पञ्च गास खाइल ॥
अन्न जल खाश्या तुट हइल मन ।
झिङ्गार झाड़ीर जले करिल आचमन ॥
कांग्रो ठेङ्ग तुलिया राजार मस्तके दिल ।
कैलासर हाड़ी कैलासत चलि गेल ॥
राजार पाट लइल पुस्कर करिया ।
हनुमान दण्ड छत्र वेडाइम साजिया ।
पाट हस्ति आइल साजिया ॥
राजा कि पोसाक पड़िवार लागिल ।
सुड़ दिया धरिया राजाक कान्धत चड़ाइल ॥
वाइज वाजनाय पाटत लड्या
राजार पाटत परनाम करिल ।
सुर दिया धरि राजाक पाटत वसाइल |
देड़ वुड़ि कड़ि खाजना साधिवार लागिल ।
राजार राज्यत सुखमय हुइल ॥

७३०

७३१

७३२

गेल।

७३३

७३४

इति ॥

I am sorry to say that the above text was copied out by an energetic bábu who had the greatest contempt for the dialect it illustrates. He showed his contempt by carefully correcting the text, wherever it differed much from his idea of the sádhry bháshá. I did not discover this until the first two hundred and fifty verses had been printed off ; so, thus far, the above must be taken cum grano salis. The principal improvements will be noted in the terminations of the genitive and locative. I may point out here, that Rangpuri possesses an instrumental ending in t, which may easily be confused with the Bangálí locative. Thus Era in Rangpurí means

with a hand”, while in Bangálí it means “in a hand,” of which the Rangpuri would be

"

[ocr errors]
« السابقةمتابعة »